1. तहयतुल मसजिद पढ़ने की दुसरी कैफियत..

    हज़रत अबु ज़र रज़ियल्लाहु तआला अन्हु से रिवायत है उन्हों ने कहा के मैं मसजिद में प्रवेश हुआ तो क्या देखता हुँ के रसूल करीम सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम तन्हा तशरीफ फरमा हैं तो मैं सरकार पाक सल्लल्लाहु तआला अलैहि वसल्लम की धन्य सेवा में जा बैठा

  2. सरकार (सल्लल्लाहु तआ़ला अलैहि ..
    Author:
    मुफती हाफिज़ सैय्यद ज़ियाउद्दीन नक्षबंदी खादरी, महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया, प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर
     Download Book   > 
     
  3. ग़ौसे आज़म रज़ियल्लाहु तआला अन्..

     हज़रत ग़ौसे आज़म पीराने पीर रज़ियल्लाहु तआला अन्हु की फूफी सैयदा, पवित्र महिला गुज़री हैं। आप का उच्च नाम आयशा बिन्त अबदुल्लाह है। आप जो दुआ़ करतीं अल्लाह तआ़ला के दरबार में स्वीकार होती। जनता व विशिष्ट लोग जब अपनी अवश्यकता के लिए आप से दुआ़ओं की विनती लेकर उपस्थित होते।

  4. हज़रत ग़ौसे पाक की विलायत..

     हुज़ूर ग़ौसे आज़म रज़ियल्लाहु तआला अन्हु फरमाते हैं के जब मैं 10 वर्ष के स्थिति में मदरसे को जाया करता था तो दैनिक एक फरिश्ता मनुष्य की शक्ल में मेरे पास आता एवं मदरसा ले जाता, तथा लड़कों को आदेश देता के वह मेरे लिए मजलिस और फैलाएं, स्वंय भी इस समय तक मेरे पास बैठा रहता यहाँ तक के मैं अपने घर वापस आया, मुझे नहीं पता के यह फरिश्ता है

  5. टब में खून गिर जाए तो क्या आदेश है?..

    मेरा प्रश्न पानी से संबंधित है। पानी के टब में खून के एक-दो बूंदें गिर गए तो इस का क्या आदेश है?  यदि ये पानी अपवित्र है तो क्या उसे किसी भी कार्य में उपयोग किया जा सकता है?

  1. 1
  2. 2
  3. 3
  4. 4
  5. 5