***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****



विषय की सूची

FATAWA > Search FAQ

Share |
f:1525 -    4 रकात सुन्नत पढ़ने का क्या तरीका है?
Country : भारत,
Name : रेहान
Question:     चार रकात सुन्नत पढ़ने का क्या तरीका है?  जिस प्रकार सुरह फातिहा के बाद ज़म्मे सुरह फर्ज़ में अवश्य है, क्या सुन्नत में भई अवश्य है?
............................................................................
Answer:     फर्ज़ नमाज़ के प्रारम्भ के 2 रकात में सुरह फातिहा तथा ज़म्मे सुरह अनिवार्य व वाजिब है।  बाखी के रकातों में सुरह फातिहा मुसतहब व श्रेष्ठतर है।  

ज़म्मे सुरह का आदेश नहीं, फर्ज़ों के अतिरिक्त, सुन्नत तथा नफीलों की सम्पूर्ण रकातों में सुरह फातिहा तथा ज़म्मे सुरह दोनों वाजिब व अनिवार्य है।  अर्थात आप सुन्नत की 4 रकात में सुरह फातिहा के साथ दूसरी सूरत की तिलावत करें।  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है

मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}
All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com