***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****



विषय की सूची

FATAWA > Search FAQ

Share |
f:1445 -    मिस्वाक करने का समय
Country : बीजापूर, भारत,
Name : मुहम्मद अबदुल्लाह
Question:     मैं ने दांतों के बारे में दन्त वैध से मुलाकात की, चिकित्सक ने मुंह की बो दूर करने के लिए (Liquid) दिया, कुछ गोलियां दीं तथा कहा के सवरे-शाम कम से कम दो बार ब्रश किया करें, मेरे एक साथी वहाँ उपलब्ध थे, इन्हों ने कहा के मिस्वाक की सुन्नत पर अ़मल करना प्रारम्भ कर दो, मैं मिस्वाक के बारे में जान्ना चाहता हुं के कौन से समय में मिस्वाक करना चाहिए?  स्पष्ट करें, मैं आप का आभारी रहुंगा।
............................................................................
Answer:     इसलाम धर्म पवित्रता व शुद्धता को बडा महत्व दिया गया है।  इस की पवित्र शिक्षा पर कार्यान्वयन रहने के कारण से ज़ाहिरी व बातिनी बकरतें प्राप्त होती हैं।  परन्तु एक मुसलमान का उद्देश्य असली अंत सवाब व पुण्य होना चाहिए।  जहाँ तक मिस्वाक करने के समय का प्रश्न है तो फुक़्हा किराम हदीसों के आधार में वर्णन किया है के प्रत्येक वुज़ू के अवसर पर मिस्वाक करना, सुन्नते-मोक़ेदह है तथा नमाज़ के समय मिस्वाक करना, श्रेष्ठतर व मुसतहब है।  

उपर्युक्त वर्णन के अतिरिक्त मुंह में बो पैदा हो, नींद से हुशियार हों, घर में प्रवेश हों, लोगों से मुलाकात करने या क़ुरान करीम की तिलावत करने का अवसर हो तो इन सम्पूर्ण अवसर पर मिस्वाक करना शरीअ़त के आधार पर श्रेष्ठतर व मुसतहब है।  इमाम आज़म अबु हनीफा रहमतुल्लाहि अलैह ने फरमाया के मिस्वाक करना, धर्म की सुन्नतों में है।  अर्थात मिस्वाक सम्पूर्ण स्थिति व समय में किया जा सकता है।  

जैसा के रद्दुल मुहतार, किताबुल तहारह पर वुज़ू की सुन्नतों के वर्णन में व्याख्या है।  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है,

मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}
All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com