***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****



विषय की सूची

فتاویٰ > क़ुरआन करीम

Share |
f:1305 -    कम्प्यूटर स्क्रीन पर क़ुरान आयत बिना वुज़ू छूने का शरई़ आदेश
Country : शेख अहमद,
Name : मुम्बई, भारत
Question:     इंटरनेट पर बहुत से धार्मिक सुशिक्षित वेबसाट्स हैं, जिन से मैं काफी लाभ उठाता हुं वाचन के दौरान स्क्रीन पर क़ुरान करीम की आयतें भी होती हैं, क्या इस समय स्क्रीन को बिना वुज़ू हाथ लगाया जा सकता है?
............................................................................
Answer:     क़ुरान करीम का अल्लाह तआ़ला का पावन कलाम है जिस को बेतहारत व बिना वुज़ू छूना हराम है अल्लाह तआ़ला का आदेश हैः-

भाषांतरः- इस को पाक-साफ लोग ही हाथ लगाएँ।  

(सुरह अल-वाक़ियआः 56:79)  

क़ुरान करीम का सम्मान व आदर के रूप में इस को जिस प्रकार बिना वुज़ू हाथ लगाना मना है इसी प्रकार क़ुरान करीम के स्क्रीन पर जो लिखित नज़र आती है वह वास्तव में इलैकट्रॉनिक प्रकाशें व किरणें हैं और इन किरणों की हैसियत एक ही है।  

अर्थात कम्प्यूटर के स्क्रीन पर जिस समय क़ुरानी आयतें हों इस समय बिना वुज़ू स्क्रीन को छूना जाइज़ नहीं किन्तु यदि स्क्रीन पर अधिक आइना लगाया जाए, जिस को अलग किया जा सकता हो तो इस आइने को बिना वुज़ू छूने में कोई समस्या नहीं.  जैसा के फतावा आलमगिरी जिल्द 1, पः 38/39 में है।  

इस के विरुद्ध क़ुरानी आयतों को मक़फी कर के दूसरे चीज़ें स्क्रीन पर प्रकाशन की जाएं तो स्क्रीन को छूने में समस्या नहीं।  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है,

मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}
All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com