***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****



विषय की सूची

فتاویٰ > इबादत > हज्ज का विवरण

Share |
f:1209 -    क्या इद्दत गुज़ारने वाली महिला हज्ज को जा सकती है?
Country : पूना, भारत,
Name : आरिफ अशरफी
Question:     हज़रत मुफती साहबसे एक उत्तर की इच्छा है- क्या इद्दत गुज़ारने वाली महिलाहज्ज को जा सकती है?
............................................................................
Answer:     इद्दत गुज़ारने वाली महिला के संबंध में अल्लाह तआ़ला का आदेश हैः-

भाषांतरः- तुम इन्हें इन के घरों से मत निकालो और ना वह निकलें।  
(सुरह अत तलाक़ः 65:01)  

इस आयत की बिना फुक़्हा किराम ने महिला पर हज्ज वाजिब (अनिवार्य) होने के शर्तों में वर्णन किया है के वह इद्दत की स्थिति में ना हों।  चाहे इ़द्दत देहान्त हो या इद्दत तलाक़।  अर्थातवह इद्दत के दौरान, हज्ज के लिए नहीं जा सकती।  जैसा के फतावा आलमगिरी जिल्द 1, पः 219 में आया है।  
भाषांतरः- इसी प्रकार तलाक़ रजई़ की इद्दत गुज़ारने वाली महिला के लिए यात्रा करना जाइज़ नहीं।  चाहे हज्ज फर्ज़ का यात्रा हो या कोई और, ना पति के साथ जाना जाइज़ है एवं ना इस के अतिरिक्त किसी महरम के साथ यात्रा करना श्रेष्ठ है।  यहाँ तक के इस की इद्दत की गणना समाप्त हो जाए या पति इसे लौटाले।  

(बदाअ़ इस सनाअ़, किताबुल तलाक़, फस्ल फी अहकाम अल इ़द्दह, जिल्द 3, पः 326)  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है,

मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}
All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com