***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****
 

f:2203 -  अहले बैत पर अत्याचार करने वालों का परिणाम > Back
Question
हम पूर्ण मित्र आपस में बहुत अधिक मिल-झुल कर रहते हैं। जब कभी अवसर मिले कोई ना कोई धार्मिक विषय पर वार्तालाप करते हैं। एक बार हमारे संकीर्ण मित्र ने कहा के अहले बैत किराम को हानि व तकलीफ देने वाला अल्लाह तआ़ला को तकलीफ देने वाला है और इन पर अत्याचार करने वाले का परिणाम बुरा होगा। मेरा प्रश्न मुफती साहब से ये है के ये बात कहां तक श्रेष्ठ है? उत्तर प्रदान करें।
Answer
अल्लामा मुहिब उद्दीन अहमद बिन अबदुल्लाह तबरी ने अपनी पुस्तक ज़खारुल अ़खबी फी मनाखिब ज़वी अल खुरबी में हज़रत अ़ला रज़ियल्लाहु तआ़ला अन्हु से रिवायत वर्णन की हैः भाषांतरः- निश्चय अल्लाह तआ़ला इस व्यक्ति पर जन्नत हराम घोषित किया है जिस ने मेरे अहले बैत पर अत्याचार व कठोरता की या इन से युद्ध व जंग किया या इन पर आक्रमण किया या इन्हें बुरा-भला कहा। (ज़खाइरुल उ़खबा फी मनाखिब ज़वी अल खुरबी) अधिक अल्लामा इब्न हजर मक्की हैतमी रहमतुल्लाहि अलैह ने भी अस सवाअ़ख अल महरखह में सरकार पाक सल्लल्लाहु तआ़ला अलैहि वसल्लम का धन्य आदेश व्याख्या किया हैः भाषांतरः- जिस ने मेरे अहले बैत के बारे में मुझे हानि व तकलीफ दी इस पर अल्लाह की लानत है। जिस ने मेरे अहले बैत के संबंधित मुजे हानि व दुख पहुंचाया इस ने अल्लाह तआ़ला को दुख पहुंचाया। निश्चय अल्लाह तआ़ला इस व्यक्ति पर जन्नत हराम घोषित दिया है जिस ने मेरे अहले बैत पर अत्याचार किया या इन से युद्ध किया या इन के विरुद्ध मदद की या इन्हें बुरा-भला कहा। (अल सवाअ़ख अल मुहरमखह) {और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है, मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया, प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}

 

All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com