***** For other Fatawa, please click on the topics on the left *****
 

f:2199 -  पावन रौज़े की ज़ियारत करने वालों को 2 स्वीकृत हज्ज का सवाब > Back
Question
पावन रौज़े की ज़ियारत करने वालों को 2 स्वीकृत हज्ज का सवाब, क्या ये बात साबित है?
Answer
सुनन दैलमी, जामअ़ अल हादीस, जामअ़ कबीर तथा कंज़ुल उ़म्माल में रिवायत हैः- भाषांतरः- जिस ने हज्ज किया फिर मेरी (सल्लल्लाहु तआ़ला अलैहि वसल्लम) ज़ियारत के लक्ष्य से मेरी मसजिद को आया तो इस के लिए 2 स्वीकृत हज्ज लिखे जाते हैं। (सुनन अल दैलमी, जामअ़ अल हादीस, हदीस संख्याः 21996 / अल जामअ़ अल कबीर लिल सुयूती, हदीस संख्याः 427 / कंज़ुल उ़म्माल, हदीस संख्याः 12370) {और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है, मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया, प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}

 

All Right Reserved 2009 - ziaislamic.com