Advanced Search
اردو
English
 
   आने वाली घटनाओं
 
 
> Back
Article Details
   
  छाती और पीठ के बाल निकालने का आदेश
   
 

 छाती और पीठ के बाल निकालने का आदेश

 

छाती तथा पीठ के बाल निकालना शरन जाइज़ व हराम नहीं किन्तु उच्च विरुद्ध (खिलाफ-औला) है।  रद्दुल मुहतार के लेखक अ़ल्लामा इब्न आबेदीन शामी रहमतुल्लाहि अलैह ने इसे शिष्टाचार व अदब के विरुद्ध घोषित किया है।  

जैसा के रद्दुल मुहतार जिल्द 05, पः 882 में हैः- 

भाषांतरः- छाती तथा पीठ के बाल निकालना अदब के विरुद्ध है।  

{और अल्लाह तआ़ला सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखने वाला है,


मुफती सैय्यद ज़िया उद्दीन नक्षबंदी खादरी

महाध्यापक, धर्मशास्त्र, जामिया निज़ामिया,

प्रवर्तक-संचालक, अबुल हसनात इसलामिक रीसर्च सेन्टर}

   
 
 
 
 
 
 

Warning: mysql_fetch_array(): supplied argument is not a valid MySQL result resource in E:\HostingSpaces\muhammad\ziaislamic.org\wwwroot\article1descr.php on line 752
  वीडियो फतावा
Mail to Us    |    Naqshbandi Calendar    |    Photo Gallery    |    Tell your friends   |    Contact us
Copyright 2008 - Ziaislamic.com All Rights Reserved