CI: 169   
टब में खून गिर जाए तो क्या आदेश है?
...............................................
  CI: 168   
छाती और पीठ के बाल निकालने का आदेश
...............................................
  CI: 167   
हेलो (Hello) के 2 अर्थ और इन का आदेश
...............................................
  CI: 166   
सूर्य ग्रहण की नमाज़ का आदेश
...............................................
  CI: 165   
क्या महिलाओं का फैशियल कराना जायज़ है?
...............................................
  CI: 164   
खादियानी से कुरबानी का गोश्त लेना ?
...............................................
  CI: 163   
क़ुरबानी के दिन और समय
...............................................
  CI: 162   
कर्जदार के लिए क़ुरबानी का आदेश
...............................................
  CI: 161   
ऑनलाइन क़ुरबानी का आदेश
...............................................
  CI: 160   
अमरीका एवं अन्य देशों में नागरिक सदस्यों की भारत में क़ुरबानी
...............................................
  CI: 159   
जानवर के कौनसे अंग व भाग खाना श्रेष्ठ नहीं
...............................................
  CI: 158   
जानवर के पैर में घाव आए तो क़ुरबानी का आदेश
...............................................
  CI: 157   
दंतहीन जानवर की क़ुरबानी का आदेश
...............................................
  CI: 156   
धनवान बच्चों पर क़ुरबानी ?
...............................................
  CI: 155   
व्यापारिक लोगों पर क़ुरबानी
...............................................
  CI: 154   
इंटरनेट पर गपशप (चैटिंग) का इसलामी आदेश
...............................................
  CI: 153   
स्त्री व महिला का नौकरी करने का आदेश
...............................................
  CI: 152   
चीटियों को मारने का शरई आदेश
...............................................
  CI: 151   
कुत्ता पालने का शरई आदेश
...............................................
  CI: 150   
महिला का होटल और पार्कों में जाने का आदेश
...............................................
CI 153- स्त्री व महिला का नौकरी करने का आदेश

 स्त्री व महिला का नौकरी करने का आदेश

 

महिला के लिए परदे का प्रबन्ध करना अवश्य है तथा इस के लिए पति का आज्ञापालन करना अनिवार्य है। 

 

यदि कोई महिला व स्त्री परदे का सम्पूर्ण प्रबन्ध करते हुए पति की आज्ञा के साथ बाहर किसी कार्य व काम के लिए या नौकरी के लिए जाती है तो शरीअत के आधार में जायज़ है। 

 

अर्थात आप की पत्नी यदि आप की आज्ञा से सम्पूर्ण रूप से परदे के साथ अस्पताल जाती हैं तो जायज़ है। 

 

यदि आप उन्हें आज्ञा नहीं देते या वे सम्पूर्ण परदा नहीं करतीं तो अस्पताल या कहीं और जाना शरीअत के आधार में जायज़ नहीं।



submit
 
 
Copyright 2008 - Ziaislamic.com All Rights reserved